लॉकडाउन: एक शख्स गर्भवती पत्नी के साथ सड़कों पर रहने के लिए हुआ मजबूर, रहना पड़ रहा है भूखा

Corona Virus से संक्रमित देशों में जैसे संकट के बादल छा गए हैं, इस वायरस ने देश की जनता को काफी परेशान कर रखा है, इसकी वजह से सारे कामकाज बिल्कुल ठप्प पड़ गए हैं, लोगों को काफी नुकसान से गुजरना पड़ रहा है, कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए इस संकट के रोकथाम के लिए 21 दिनों के लिए लॉक डाउन लागू कर दिया गया है, लेकिन यह आम जनता के लिए काफी मुश्किल भरा साबित हो रहा है, इसकी वजह से बहुत से लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, आए दिन कोई न कोई ऐसी खबर सुनने को मिल ही जाती है जिसको जानने के बाद अक्सर मन काफी दुखी होता है, आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जिसको कोरोना वायरस की वजह से Lock Down के कारण अपनी 8 महीने की गर्भवती पत्नी के साथ भूखा सड़कों पर रहना पड़ रहा है।

दरअसल, हम आपको जिस शख्स के बारे में जानकारी देने वाले हैं इस शख्स के बारे में जानकर आपका दिल बहुत ही दुखी होगा, आपको बता दें कि खबरों के अनुसार ऐसा बताया जा रहा है कि दिल्ली के जंतर मंतर की सड़कों पर एक आदमी जिसका नाम संजय है वह अपनी 8 महीने की गर्भवती पत्नी के साथ भूखा प्यासा सड़कों पर रहने के लिए मजबूर हो गया है, इसकी पत्नी जिस अवस्था में है वैसे में देखभाल करना जरूरी है और गर्भावस्था के दौरान बच्चे के अच्छे स्वास्थ्य के लिए सही खानपान का होना बहुत ही आवश्यक है, परंतु लॉक डाउन की वजह से इस शख्स को कोई भी रोजगार नहीं मिल पा रहा है, जिसके कारण इसकी पत्नी को भूखा रहना पड़ रहा है, संजय का ऐसा कहना है कि हमारा राशन खत्म हो गया है, और पता नहीं अब क्या होगा, मेरी पत्नी 8 महीने की गर्भवती है और उसको इस अवस्था में भूखे पेट रहना होगा।

मंगलवार को भारत के PM नरेंद्र मोदी जी ने 21 दिनों के लिए बुधवार से कोरोना वायरस से लड़ने के लिए लॉक डाउन की घोषणा की थी, जिसके दौरान सभी देश की जनता को अपने घरों में ही रहने की अपील की थी, अगर हम दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण की बात करें तो खबरों के अनुसार ऐसा बताया जा रहा है कि 36 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल जी ने भी गुरुवार को एलजी अनिल बैजल के साथ एक समीक्षा मीटिंग वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम की थी और उन्होंने यह कहा था कि लॉक डाउन की अवधि के दौरान यह सुनिश्चित किया जाए कि सब्जी, राशन, दूध जैसी आवश्यक चीजों की दुकानें खुली रहेंगी और इन दुकानों से सामान लिया जा सकता है।

कोरोना वायरस का संक्रमण धीरे धीरे अपने पैर पसारता जा रहा है, सरकार भी इसकी रोकथाम के लिए अपनी तरफ से कोई भी कसर नहीं छोड़ रही है, लेकिन इसके बावजूद भी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है, इतना ही नहीं बल्कि इस वायरस की वजह से कई लोगों की जान भी चली गई है, मुख्यमंत्री केजरीवाल ने यह कहा था कि 36 मामलों में से 26 लोग विदेश से आए हुए थे इन्हीं की वजह से 10 और लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण फैला है, देशभर में इस वायरस की वजह से काफी चिंताजनक स्थिति बनी हुई है।